ब्रेकिंग CM योगी ने जमकर लगाया कप्तानों को फटकार, कहा- अब तबादला ही नहीं होगी बड़ी कार्रवाई                  
विज्ञापन समाचार प्राइम 24 न्यूज़ नेटवर्क परिवार की ओर से समस्त देशवासियों को दीपावली के पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं                  रविंद्र कुमार मिश्र प्रभारी कोतवाली राया जनपद मथुरा                  गब्बर सिंह मालिक पशु पेंट बिचपुरी ब्लॉक राया                  गुड्डू चौधरी प्रधान प्रतिनिधि ग्राम आयरा खेड़ा ब्लॉक राया मथुरा                  लक्ष्मण सिंह प्रधान घड़ी परसा की ओर से समस्त जनपद वासियों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं                  रमेश कुमार गुप्ता प्रभारी बांदा राकेश कुशवाह झांसी                  संतोष मिश्र पंकज सिंह बाबू खान रमेश कुमार राजू खान बहराइच                  वर्षा सिंह लखीमपुर दानिश अली प्रभारी कन्नौज                  फराज खान लखीमपुर अभिषेक गुप्ता निघासन लखीमपुर                  तबस्सुम अंसारी सीतापुर आशीष गौड़ सीतापुर                  नसीम खान प्रभारी उत्तर प्रदेश बहराइच                  shah satnam ji engineering works new delhi all kinds shutter roiling ptti macine tarun mishra mo 9811935781                  
महिला ने 74 साल की उम्र में जुड़वा बच्चों को दिया जन्म, गिनीज बुक में दर्ज हो सकता है नाम
Delhi,(Delhi)(05-Sep-2019)

आंध्र प्रदेश: महिला ने 74 साल की उम्र में जुड़वा बच्चों को दिया जन्म, गिनीज बुक में दर्ज हो सकता है नाम आंध्र प्रदेश की एक महिला ने 74 साल की उम्र में जुड़वा बच्चों को जन्म दिया. डॉक्टरों का मानना है कि यह नया विश्व रिकॉर्ड हो सकता है. गिनीज विश्व रिकॉर्ड के मुताबिक पिछला रिकॉर्ड 2006 में 66 साल की एक स्पेनिश महिला के नाम था. अमरावती: मां बनने का पिछले पांच दशक से इंतजार कर रही आंध्र प्रदेश की 74 वर्षीय एक महिला का सपना आखिरकार पूरा हुआ और उसने गुरुवार को जुड़वा बच्चों को जन्म दिया. डॉक्टरों का मानना है कि यह नया विश्व रिकॉर्ड हो सकता है. गिनीज विश्व रिकॉर्ड के मुताबिक पिछला रिकॉर्ड 2006 में 66 साल की एक स्पेनिश महिला के नाम था. आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले के द्रक्षारामम की ई मंगयम्मा ने गुंटुर के निजी अस्पताल में इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) के जरिए दो जुड़वा बच्चियों को जन्म दिया. स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ सनककयला अरुणा ने कहा कि मां और दोनों नवजात बच्चियां सुरक्षित और स्थिर हैं. सनककयला अरुणा की ही देखरेख में सी-सेक्शन किया गया.मंगयम्मा की 1962 में ई राजा राव से शादी हुई थी. इतने सालों में उन्होंने उम्मीद छोड़ दी थी लेकिन जब उनके एक पड़ोसी ने आर्टिफिशियल इनसेमिनेशन के जरिए 55 की उम्र में एक बच्चे को जन्म दिया तो उनकी उम्मीद फिर से जगी और उन्होंने आईवीएफ आजमाया. मंगयम्मा ने पिछले साल नवंबर में डॉ अरुणा का रुख किया जो पूर्व में 1999 से 2004 के बीच चंद्रबाबू नायडू कैबिनेट में स्वास्थ्य मंत्री रहीं. मंगयम्मा आईवीएफ प्रक्रिया से गुजरी और इस साल जनवरी में गर्भधारण किया.




Comments:







Visitor No. :

Visitor Count


प्राइम समाचार
बडी खबरे
खबरे अब तक
साक्षात्कार
स्पोर्टस
क्राइम
ब्लॉग
बॉलीवुड

Copyright © Samachar Prime 24 @ 2014-2019